दिल की किताब में गुलाब उनका था, रात की नींद में ख्वाब उनका था, कितना प्यार करते हो जब हमने पूछा, मर जायंगे तुम्हारे बिना ये जबाब उनका था……!!!

97
दिल की किताब में गुलाब उनका था,

रात की नींद में ख्वाब उनका था,

कितना प्यार करते हो जब हमने पूछा,

मर जायंगे तुम्हारे बिना ये जबाब उनका था……!!!

Zakhm aisa diya k koi dawa kam na aayi,

aag aisi lagayi k pani se buj na payi,

aaj bhi rote he unki yaad me,

jinhe kabhi hamari yaad na ayi…

वो अगर हमे छोड़ कर खुश है तो शिकायत क़ैसी
और अगर मै उसे खुश भी न देखूँ तो मोहबत्त क़ैसी
उसने मोहबत्त का वो सिला दिया
मुझे जीते जी जला दिया
कहती है जा भूल जा मुझको
मैने तुझको भुला दिया